विपणन प्रबन्ध

विपणन रणनीतियां | विपणन सेवाये | Marketing Strategies and Services in Hindi

विपणन रणनीतियां | विपणन सेवाये | Marketing Strategies and Services in Hindi

Table of Contents

विपणन रणनीतियां और सेवाये

(Marketing Strategies and Services)

विभिन्न विद्वानों का मत है कि विपणन में चार P का महत्वपूर्ण योगदान होता है। (वस्तु Product, मूल्य Pricing, भौतिक वितरण Physical Distribution तथा प्रवर्तन Promotion), लेकिन सेवा विपणन में तीन P और होने चाहिए। (व्यक्ति या कर्मचारी People, भौतिक गवाही Physical Evidence तथा प्रक्रिया Process ) ।

यहाँ वस्तु से अर्थ उस सेवा से है जो दी जा रही है। मूल्य से अर्थ उस प्रतिफल से है जो ग्राहक से सेवा के बदले में प्राप्त किया जा रहा है। भैतिक वितरण से अर्थ ग्राहक सेवा देने वाले व्यक्तियों से है तथा प्रवर्तन से अर्थ विज्ञापन व अन्य साधनों से है जो बिक्री बढ़ाने के लिए काम आते हैं।

लेकिन सेवा व्यवसाय में सेवा देने वाले व्यक्ति या कर्मचारी होते हैं। इनका चुनाव प्रशिक्षण व अभिप्रेरण उचित प्रकार से किया जाता है तो सेवा की क्वालिटी में अनतर आ जाता है। ग्राहक संतुष्टि बढ़ जाती है। कर्मचारियों में अपने कैरियर के प्रति अभिरूचि होनी चाहिए। उत्तरदायित्वपूर्ण ढंग से कार्य करना चाहिए। स्वंय में पहल शक्ति होनी चाहिए और समस्याओं के हल करने की योग्यता होनी चाहिए। आजकल भारत में नये निजी बैंकों जैसे I.C.I.C.I. Bank, IndusInd Bank, U.T.I. Bank, H.D.F.C. Bank आदि के कर्मचारियों में यह बात पायी जाती है जो सामान्यतया सरकारी बैंकों जैसे S.B.I. Bank, Punjab National Bank आदि में नहीं पायी जाती है।

सेवा देने वाली संस्थाओं को अपनी सेवा गुणवत्ता को भौतिक गवाही के माध्यम से प्रदर्शित करना चाहिए; जैसे वहाँ सफाई कैसी है, सेवा की गति कैसी है। भारत में निजी बैंकों में न केवल सफाई दिखाई देती है बल्कि काम की गति भी तेज है। रूपया जमा करने या निकालने में समय बहुत ही कम लगता है। A.T.M. (Automatic Teller Machines) मशीनों के माध्यम से रूपया जमा व निकाला जा सकता है, जिसमें समय बहुत ही कम लगता है।

सेवा देने वाली संस्थाएँ सेवा देने के लिए विभिन्न प्रक्रिया अपना सकती है। जैसे होटल व्यवसाय में केवल फास्ट फूड को अपनाया जा सकता है या फिर केवल पेय पदार्थ को या फिर इस प्रकार के अन्य तरीकों को जिनमें Boarding तथा Lodging सम्मिलित हैं।

विपणन प्रबन्ध – महत्वपूर्ण लिंक

Disclaimer: e-gyan-vigyan.com केवल शिक्षा के उद्देश्य और शिक्षा क्षेत्र के लिए बनाई गयी है। हम सिर्फ Internet पर पहले से उपलब्ध Link और Material provide करते है। यदि किसी भी तरह यह कानून का उल्लंघन करता है या कोई समस्या है तो Please हमे Mail करे- vigyanegyan@gmail.com

About the author

Pankaja Singh

Leave a Comment

error: Content is protected !!