शैक्षिक तकनीकी

उपग्रह अनुदेशनात्मक दूरदर्शन प्रयोग | उपग्रह अनुदेशनात्मक दूरदर्शन के प्रयोग का उद्देश्य | Satellite Instructional Television Experiment: SITE in Hindi | Aims of Satellite Instructional Television Experiment: SITE in Hindi

उपग्रह अनुदेशनात्मक दूरदर्शन प्रयोग | उपग्रह अनुदेशनात्मक दूरदर्शन के प्रयोग का उद्देश्य | Satellite Instructional Television Experiment: SITE in Hindi | Aims of Satellite Instructional Television Experiment: SITE in Hindi

उपग्रह अनुदेशनात्मक दूरदर्शन प्रयोग

(Satellite Instructional Television Experiment: SITE)

भारततर्ष में 1 अगस्त सन् 1975 को अमेरिकी सहायता से SITE (Satellite Instructional Television Experiment) का उद्घाटन हुआ और इस प्रयोग ने 31 जुलाई, 1976 को अपना वर्ष पूर्ण किया। एक के प्रारम्भ के साथ-साथ शैक्षिक दूरदर्शन कार्यक्रमों में नवाचार तथा रचनात्मक प्रयोगों की श्रृंखला का शुभारम्भ हुआ। इन प्रयोगों का उद्देश्य शैक्षिक दूरदर्शन को राष्ट्रीय विकास कार्यक्रमों से जोड़ना तथा सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले भारतीय जन समुदाय को शिक्षित करना था। एऊ के द्वारा ग्रामीण क्षेत्र में करीब 40 करोड़ जनसंख्या को शिक्षित करने का प्रयास किया गया। यह प्रयोग आन्ध्र प्रदेश, बिहार, कर्नाटक, उड़ीसा, मध्यप्रदेश, राजस्थान आदि में सफलतापूर्वक किया गया तथा इन राज्यों में दूरदर्शन प्रसारण प्रसारण केन्द्र स्थापित किए गए, जिनके द्वारा 9000 गांवों में शैक्षिक कार्यक्रमों का आयोजन हो सका।

उपग्रह अनुदेशनात्मक दूरदर्शन के प्रयोग का उद्देश्य

(Aims of Satellite Instructional Television Experiment: SITE)

(SITE) के निम्नलिखित उद्देश्य हैं-

  1. शैक्षिक दूरदर्शन को राष्ट्रीय विकास कार्यक्रमों में जोड़ना।
  2. ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले भारतीय जन समुदाय को शिक्षित करने के लिए, अनुदेशनात्मक प्रणाली (Instructional System) विकसित करने हेतु दूरदर्शन का उपयोग करना।
  3. ग्रामीण क्षेत्रों में विशेषकर, प्राथमिक, पूर्व प्राथमिक तथा प्रौढ़ शिक्षा के द्वारा सामुदायिक जीवन के प्रति संवेदनशीलता उत्पन्न करना।
  4. बालकों में संख्यात्मक (Numeracy) भाषागत (Language) तथा विज्ञान सम्बन्धी समझ और क्षमता का विकास करना।
  5. SITE के अनेक कार्यक्रमों का उद्देश्य भी एक बड़े जनसमुदाय में औपचारिक शिक्षा के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण का विकास करना भी है, इसके लिए शिक्षा को रूचिकर, रचनात्मक, उद्देश्यपूर्ण और प्रेरक बनाना है।

बालकों को ऐसी पाठ्य वस्तु और सामग्री से अवगत कराना जो उनके अनुभवों से परे हो।

  1. SITE का सबसे महत्वपूर्ण उद्देश्य दूरदर्शन का शिक्षा के सामूहिक माध्यम के रूप में प्रयोग करना है।
  2. शैक्षिक योजनओं तथा तकनीकी के प्रति शिक्षकों में सकारात्मक दृष्टिकोण का विकास करना है।
  3. SITE के द्वारा अध्यापक शिक्षा का विकास और सुधार करना।
  4. सेवारत अध्यापकों के लिए प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों का संचालन करना।
  5. सामाजिक परिवर्तन को उत्प्रेरित करना।

SITE कार्यक्रम के समय अनेक अध्ययन और शोध किए तथा लोगो के सामुदायिक जीवन, जीवन शैली उनके दृष्टिकोण और उनकी प्रतिक्रियाओं से सम्बन्धित समंकों का विश्लेषण (Data Analysis) कर यह निष्कर्ष ज्ञात किया गया कि SITE की योजना शिक्षा प्रणाली तथा शैक्षिक वातावरण के लिए उपयोगी सिद्ध हुई हैं। प्रयोगों के निष्कर्षों से प्रेरित होकर भारतवर्ष में स्वयं अपने उपग्रह (Satellite) द्वारा दूरदर्शन कार्यक्रम के विकास की योजना बनाई गई जो आज INSAT कार्यक्रम के रूप में जानी जाती है। INSAT (Indian National Satellite) की हिन्दी में, भारतीय राष्ट्रीय उपग्रह’ कार्यक्रम भी कहते है।

शैक्षिक तकनीकी – महत्वपूर्ण लिंक

Disclaimer: e-gyan-vigyan.com केवल शिक्षा के उद्देश्य और शिक्षा क्षेत्र के लिए बनाई गयी है। हम सिर्फ Internet पर पहले से उपलब्ध Link और Material provide करते है। यदि किसी भी तरह यह कानून का उल्लंघन करता है या कोई समस्या है तो Please हमे Mail करे- vigyanegyan@gmail.com

About the author

Pankaja Singh

Leave a Comment

error: Content is protected !!